पर्यटन विकास निगम के बेडे़ में जुडेंगी पांच लग्जरी कोच

0

शिमला: हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम के निदेशकमंडल ने निगम के कर्मचारियों को संशोधित वेतनमान का पूरा बकाया जारी करने और वर्ष 2006 के बाद सेवानिवृत्त कर्मचारियों को संशोधित वेतनमानों के आधार पर लीव इनकैशमेंट देने को स्वीकृति प्रदान की है। इन देनदारियों पर निगम पर 2.95 करोड़ का वित्तीय बोझ पड़ेगा। मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल, जो पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष भी हैं, ने गत सायं हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम के निदेशक मंडल की 129वीं बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह जानकारी दी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अप्रैल, 2012 के दूसरे सप्ताह में निगम के बेड़े में 1.30 करोड़ रुपये लागत की पांच लग्जरी कोच जोड़ी जाएंगी जबकि चार वाल्वो और परिवहन शाखा की 15 डीलक्स बसें पहले ही चल रही हैं। नई कोच मनाली-रोहतांग रूट पर चलाई जाएगी जिससे क्षेत्र में यातायात दबाव को कम किया जा सके। साथ ही इससे निगम की परिवहन शाखा की कार्यकुशलता भी बढ़ेगी और मनाली व अन्य क्षेत्रों का दौरा करने वाले पर्यटकों और बेहतर सुविधाएं भी मिलेंगी।

बैठक में निगम के प्रथम अप्रैल, 2011 से 29 फरवरी, 2012 तक के प्रदर्शन की समीक्षा की गई। प्रो. धूमल ने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि निगम ने 65.07 करोड़ रुपये का कारोबार कर पिछले वर्ष की तुलना में 5.57 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की।

निदेशक मंडल ने सीधी भर्ती कोटे के अंतर्गत विभिन्न श्रेणियों के रिक्त पदों को भरने की स्वीकृति भी प्रदान की।

मुख्यमंत्री ने पर्यटन विभाग और पर्यटन विकास निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए कि पर्यटक परिसर क्यारीघाट में अंतरराष्ट्रीय कन्वेंशन सुविधा स्थापित करने के लिए प्रस्ताव तैयार किया जाए। यह एक वृहद पर्यटन गंतव्य परियोजना होगी जिसमें सम्मेलन कक्ष, पर्यटक मार्ट, पार्किंग और आवासीय सुविधाएं इत्यादि का प्रावधान होगा। इस परियोजना पर लगभग 20 करोड़ रुपये खर्च होंगे, जिसे स्वीकृति के लिए भारत सरकार को भेजा जाएगा।

उन्होंने कहा कि मनाली और इसके आसपास के क्षेत्रों में स्काई बस की विशेष परियोजना भी बनाई गई है जो पर्यटन को प्रोत्साहन देने में सहायक होगी तथा इस क्षेत्र में आने वाले सैलानियोें को अनेक आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा सकेंगी।

Share.

About Author

Leave A Reply