अन्तराष्ट्रीय राॅरिक स्मारक न्यास को और अधिक सुविधाएं मुहैया करवाई जाएंगीः वीरभद्र सिंह

0

शिमला: हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार नग्गर स्थित अन्तराष्ट्रीय राॅरिक स्मारक न्यास के सुदृढ़ीकरण के लिए हर सम्भव प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा न्यास के प्रबन्धन के लिए हर सम्भव सहायता उपलब्ध करवाई जा रही है। मुख्यमंत्री आज यहां अन्तराष्ट्रीय राॅरिक स्मारक के न्यासी बोर्ड की 17वीं बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने न्यास के कार्यों के प्रभावी देख-रेख व मार्गदर्शन के लिए बोर्ड के न्यासियों की बैठक को निरन्तर अन्तराल पर आयोजित करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि राॅरिक स्मारक न्यास का प्रदेश व देश के लिए ऐतिहासिक महत्व है।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि केन्द्र सरकार तथा रूस की सरकार न्यास के रख-रखाव एवं विकास के लिए महत्वपूर्ण सहयोग प्रदान कर रही है। उन्होंने कहा कि न्यास का प्रबन्धन आपसी सहयोग के आधार पर तथा प्रदेश सरकार एवं रूस सरकार के भारत में स्थित दूतावास द्वारा आई.सी.आर. माॅस्को के सक्रिय सहयोग से संयुक्त तत्वावधान में किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने हाल ही में न्यास के जीर्णोद्धार एवं पुनस्र्थापन गतिविधियों के लिए दो मिलियन रुपये की विशेष अनुदान राशि जारी की है।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार ने इस वर्ष पर्यटकों को अधिक सुविधाएं उपलब्ध करवाने के अलावा न्यास के राजस्व के सृजन के लिए, जिसमें तुरन्त मुरम्मत, स्मारिका प्रकाशन, पोस्टर, दस्तावेजों का संरक्षण एवं पुनस्र्थापन तथा नियमित कार्यशाला एवं प्रदर्शिनयों के आयोजन के लिए विभिन्न कदम उठाए हैं। उन्होंने प्रशासन को आगुंतकों की सुविधा के लिए न्यास के नए अतिथि गृह के निर्माण की योजना बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि न्यास के बागीचे में सेब के पुराने पौधों को नई किस्मों के साथ बदला जाना चाहिए, जिससे न्यास के राजस्व में बढ़ौतरी सुनिश्चित हो सके। उन्होंने कहा कि न्यास द्वारा संचालित कला विद्यालय को अधिक सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएगी। इससे पूर्व संघीय रूस के राजदूत एलेक्जेंडर एम. कदाकिंन ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया तथा उनके सहयोग एवं न्यास के कार्यों में व्यक्तिगत रूचि लेने के लिए धन्यवाद किया। उन्होंने लम्बित मामलों के शीघ्र समाधान का भी आग्रह किया। उन्होंने अन्तराष्ट्रीय राॅरिक न्यास स्मारक की आमदनी के अतिरिक्त संसाधनों के लिए प्रस्ताव बनाने एवं कदम उठाने का सुझाव दिया।

अतिरिक्त मुख्य सचिव भाषा, कला एवं संस्कृति श्रीमती उपमा चैधरी ने मुख्यमंत्री एवं न्यासियों का स्वागत किया तथा अन्तराष्ट्रीय राॅरिक न्यास स्मारक की विभिन्न गतिविधियों बारे जानकारी दी। उपायुक्त कुल्लू जो अन्तराष्ट्रीय राॅरिक न्यास स्मारक के निदेशक भी हैं, ने बैठक की कार्यवाही का संचालन किया। उन्होंने अवगत करवाया कि न्यास की कार्यप्रणाली को अधिक चुस्त-दुरूस्त बनाने के लिए विभिन्न कदम उठाए गए हैं और यहां आने वाले पर्यटकों के लिए अधिक सुविधाएं मुहैया करवाने पर बल दिया गया है। आई.सी.आर. मास्को के अध्यक्ष एलेक्जेंडर लोसुको, रूसी दूतावास के वरिष्ठ परामर्शदाता सरजी कारमालितो, विज्ञान एवं संस्कृति केन्द्र रूस के निदेशक फ्योदोर रोजोवस्की, अन्तराष्ट्रीय राॅरिक न्यास स्मारक के न्यासी, अतिरिक्त मुख्य सचिव वी.सी. फारका, भाषा, कला एवं संस्कृति विभाग के निदेशक अरूण शर्मा भी बैठक में उपस्थित थे।

Share.

About Author

Sanjeev Awasthi has been a news correspondent for more than 14 years. He is currently Managing Editor of Northern Voices Online (NVO News) and Revolution Time.

Leave A Reply